जयपुरशहर के जगतपुरा खोनागोरियान, जामडोली इलाके में 3.50 लाख लोगों को बीसलपुर की मौजूदा लाइन से पेयजल मिलने की उम्मीद पूरी होने पर संशय गहरा रहा है। विभाग निर्माण कार्य तो करा रहा है लेकिन बीसलपुर बांध में न तो
ज्यादा पानी है, न पाइप लाइन की क्षमता। वहां से जयपुर तक आ रही पाइप लाइन की क्षमता करीब 500 एमएलडी प्रतिदिन है और विभाग इतना पानी लेता रहा है। ऐसे में मौजूदा संसाधन से ही नए इलाकों में पेयजल आपूर्ति करना मुश्किल है। जगतपुरा में पानी की टंकी बनाने से लेकर पेयजल लाइन बिछाने तक का काम शुरू हो चुका है जबकि
खोनागोरियान व जामडोली में सर्वे चल रहा है। दोनों जगह लोगों को पाइप लाइन के जरिए सरकारी पानी की आपूर्ति होनी है। दोनों जगह रोजाना 40 एमएलडी (400 लाख
लीटर) पानी की जरूरत होगी। जलदाय विभाग के अधिकारी खुद मान रहे हैं कि बांध में पानी कमी है और बीसलपुर की मौजूदा पाइप लाइन की क्षमता भी सीमित है। ऐसे में यहां पानी लाने के लिए बीसलपुर से जयपुर तक प्रस्तावित दूसरी पाइप लाइन (समानान्तर) बिछानी ही। होगी। बीसलपुर बांध में ब्राह्मणी नदी से पानी भी पहुंचाना होगा। विभागीय अधिकारी यहां ट्यूबवैल के भरोसे पेयजल लाइन के जरिए पानी पहुंचाने का रास्ता तलाशने में जुटे हैं। इसके तहत शहर में 552 ट्यूबवैल का संचालन प्रस्तावित , जिनमें से 250 शुरू हो चुके हैं। इनके जरिए रोजाना 75 एमएलडी पानी मिलने का दावा किया जा रहा है। ऐसे में दावा है कि बांध से जो पानी कम किया जाएगा वह उससे इस इलाके में आपूर्ति की जाएगी। हालांकि बांध में फिलहाल इतना पानी ही नहीं है।

                 ये हैं प्रोजेक्ट

खोनागोरियान प्रोजेक्ट 59.35 करोड़ का प्रोजेक्ट, 1.25
लाख लोगों को मिलेगा पानी। 275 किमी लम्बी बिछेगी पेयजल लाइन

150 लाख लीटर पेयजल प्रतिदिन होगी सप्लाइ, 5 जगह बनेंगी टंकियां

                   जामडोली प्रोजेक्ट

64 करोड़ का प्रोजेक्ट90 हजार लोगों को मिलेगा पानी। 290 किमी लम्बी बिछेगी पेयजल लाइन 110 लाख लीटर पेयजल प्रतिदिन होगी सप्लाइ, 8 जगह बनेंगी टंकियां

                    जगतपुरा प्रोजेक्ट

34 करोड़ का प्रोजेक्ट, 1.40 लोगों को सुविधा। 175 किमी लम्बी लाइन।
6 जगह पम्प हाउस10 जगह टंकियों का निर्माण

58 total views, 1 views today

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here