IMG-20180811-WA0006अब आप वाहनों की चेकिंग के दौरान अपने मोबाइल पर ही लाइसेंस बौर संबंधित कागजात दिखा सकते है| केंद्र सरकार ने डिजिलॉकर को मान्यता देते हुए परिवहन विभाग और ट्रेफिक पुलिस को निर्देश दिया कि प्रमाणीकरण के लिए असली दस्तावेज न देखे जाए| सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम -2000 के तहत डिजिलॉकर या एमपरिवहन ऐप पर मौजूद दस्तावेज की ईं-कॉपी को वैध माना जाएगा| ट्रेफिक पुलिस भी अपने मोबाइल में मौजूद ऐप से ड्राइवर और वाहन की जानकारी डेटाबेस से मिला सकेगी|

आधार से जुड़ेंगे App👇🏻

मोबाइल में डिजिलॉकर या एम परिवहन एप डाउनलोड करके साइन अप करना होगा| मोबाइल नंबर फिड करने पर ओटीपी मिलेगा,जिसे डालने के बाद अकाउंट बनाया जा सकेगा| इसके बाद दोनों ऐप को आधार नम्बर से वेलिडेट करना होगा | ड्राइविंग लाइसेंस आरसी आदि कागजात की सॉफ्टी कॉपी इसमे रख सकेंगे| ट्रैफिक पुलिस के मांगने पर ऐप में दर्ज दस्तावेजो का क्यूआर कोड दिखाना होगा,जिससे आपकी पूरी जानकारी मिल जाएगी|

 

आरटीआई के बाद यह फैसला लिया गया👇🏻

इस वक्त डिजिलॉकर ऐप एंड्रॉयड और आईओ एस दोनों पर मौजूद है| हालांकि एम परिवहन फिलहाल एंड्रॉयड फ़ोन पर ही मिलेगा| मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि करीब 10 दिन में यह भी आईओ एस पी आ जायेगी

87 total views, 1 views today

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here