अभी हाल ही में अंतरिम बजट 2019 पारित हुआ,इस बजट से बेनीवाल बहुत नाखुश है,क्योंकि उनका कहना है कि इस बजट से जितनी उमीदें थी वो सब अधूरी रह गयी है।

बजट 2019 के पास होने के बाद हनुमान बेनीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि किसानों के साथ अन्याय हुआ है। इस बजट से सबसे ज्यादा उम्मीदे किसानों को थी की उनके हक में कुछ पारित होगा। लेकिन सरकार ने सिर्फ 6000 रु देने की घोषणा की है।

ये कोई बड़ी राशि नही है, अगर किसानों को राशि देते तो कोई बड़ा अमाउंट देते,क्योंकि सबसे ज्यादा किसान राजस्थान में है,सिर्फ 6000 में इनका क्या होगा,इसके बाद बेनीवाल ने मोदी पर निशाना साधते हुवे कहा कि आप तो सभी के खाते में 15-15 लाख रु डालने वाले थे।

और सिर्फ 6000 पर आके ही अटक गए। इस बजट में रोजगार के लिए कुछ खास नही हुआ बहुत सारे पड़ खाली पड़े है। और भारत के नोजवान आज सड़को पे घूम रहे है,इसके बाद टोल को लेकर सवाल उठाए।

अगर सरकार इतना कुछ कर रही है तो फिर ये टोल टेक्स क्यों देना पड़ता है। इसको भी हटाया जाए ये सिर्फ चुनावी बजट है इसमें किसी को भी फायदा नही होगा। ऐसे तो कोंग्रेस ने भी 2 लाख पद भरने की बात कही है। ये सिर्फ कची घोषणाए है,इसे अच्छा तो ये होता कि सम्पूर्ण कर्ज माफी की घोषणा दिली की सरकार करती।

क्योंकि आज किसान कर्ज में डूब रहा है और आए दिन आत्म हत्याए कर रहे है। क्योंकि जब तक देश का किसान और युवा मजबूत नही होता तब तक देश आगे नही बड़ सकता। ये सिर्फ एक चुनावी घोषणा है। वोट पाने का एक जरिया है। और बस कुछ ज्यादा नही,:-हनुमान बेनीवाल(विधायक खींवसर)

270 total views, 2 views today

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here