14 फरवरी 2019 को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में भारत माता के तकरीबन 40 जवान शहीद हो गए। लेकिन 14 फरवरी को हुई इस घटना के बाद घाटी में आतंकवादियों में काफी ज्यादा दहशत मची हुई है। गौरतलब है कि केंद्र की सत्ता सीन मोदी सरकार के द्वारा वर्तमान समय में सेना को खुली छूट दे दी गई है। जिसके बाद सेना आतंकियों को पकड़ने, मारने और उनसे पूछताछ करने के लिए पूरी तरह से आजाद है। यही वजह है कि घाटी में इस समय आतंकियों की शामत आई है।

हालांकि इसी बीच खबर आई है कि भारतीय सेना ने पुलवामा आतंकी हमला के मास्टरमाइंड को भी मार कर गिरा दिया है। इसके अलावा सेना टॉप कमांडर के साथ-साथ ग्राउंड जीरो लेवल के आतंकियों को भी ढूंढ कर उनसे पूछताछ करने में जुटी हुई है।

इसी सिलसिले में भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी एनआईए से मिली खबर के अनुसार आज कश्मीर में 23 आतंकी गिरफ्तार किए गए है। जिनसे कड़ी पूछताछ जारी है।

बताते चलें कि प्राप्त जानकारी के अनुसार सेना इन सभी आतंकियों से कड़ी पूछताछ कर रही है। तथा कश्मीर में मौजूद सभी आतंकी कमांडर सहित अन्य विदेशी आतंकियों के बारे में भी पूछताछ जारी है। हालांकि हम आपको बता दें कि कश्मीर में भारतीय सेना अब तक 60 से भी ज्यादा आतंकियों को मौत के घाट उतार चुकी है।

तथा उसका मिशन अभी भी जारी है क्योंकि सेना का पहला लक्ष्य कश्मीर में मौजूद सभी आतंकियों का खात्मा ही है।

हालांकि आतंकियों के लिए भारतीय सेना का मिशन क्या होना चाहिए? तथा इस हमले के बाद मोदी सरकार को किस तरह के कदम उठाने चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here